What is Carding ? Carding क्या होता है ? Hindi Shindi


Carding


दोस्तों आपने Credit Card/Debit Card Hacking के बारे में तो सुना ही होगा. 


अगर नहीं तो इस Blog को पूरा पढ़ें क्योंकि आज में आपको Carding के बारे में अपनी पूरी knowledge share करने जा रहा हूँ जो आपको भविष्य में काम आएंगी.


तो आज में इन्ही तरह के कई topics के बारे में आपको बताऊंगा जैसे की


क्या है Carding ?


 क्या Carding safe है ?


क्या हमे Carding Products खरीदने चाहिए ?


What is Carding ? ( क्या है Carding )

तो दोस्तों carding यह एक online किया जाने वाला fraud है, जिसमे आपको बिना बताये आपके credit card को hack किया जाता है और उसका use करके online shopping की जाती है. उसे हम carding कहते है.


India में carding, online frauds का प्रमाण बहुत बढ़ चूका है. ऐसे में आपको कौन कौन सी सावधानी बरतनी चाहिए, यह भी में आपको आगे बताऊंगा.


Carding कैसे की जाती है ?

Carding का सारा process बढे ही सावधानी से किया जाता है. क्योंकि carding एक illegal काम है. यदि आप अगर carding करते समय पकडे जाते है तोह आपको कड़ी से कड़ी सजा भुगतनी पद्द सकती है. 

इतना ही नहीं अगर आप carding किये हुए products को खरीदते भी है तो यह भी एक कानूनन जुर्म है.

तो carders का जो पहेला काम होता है वह होता है किसीके credit card की information को निकालना. याने उस card को hack करना.

आजकल तोह मार्केट में ऐसी बोहोत साड़ी illegal websites है जो credit cards को hack कर carders को बेचती है.

तो carders वहासे card को खरीद लेते है. उसके बाद वह कोई भी एक shopping की site जैसे की Amazon, Ebay जैसी sites में जाकर उस card के owner के नाम से account बनाते है. 

इसके बाद वह Amazon से कोई भी एक Product को choose करते है. और hack किये हुए credit card की details को भरके product का payment कर देते है. याने पैसा किसी और का और shopping करें carders.

यह carders लोग कभीभी जल्दी पकडे नहीं जाते. पकडे जाने की संभावना हमेशा ना के बराबर ही होती है. क्योंकि carding करते समय यह इतने सारे चीज़ों का ध्यान रखते है की यह कभी पकड़ में ही नहीं आते इतनि सेफ्टी यह लोग रखते है.

जैसे की इनके कंप्यूटर जहासे यह carding कर रहे है उसके IP Address को strong VPN द्वारा hide कर देते है और अपने location को change कर देतें है.

 यूँ समझो की अगर कोई carder मुंबई में बैठकर carding कर रहा हो तो वह अपने IP Address को hide या तो बदल देता है, तो अगर आप उसके location को track करने जाओगे तो वह carder की location दुसरे किसी country में आपको दिखाई देगी.

  अब आप में से कई लोग सोचेंगे की delivery तोह घरपर आती है, तो वहासे आपको उसके घर का पता चल सकता है और आसानी से पकड़ा जा सकता है, तो जी नहीं. Carders बोहुत शातिर होते है, वह shopping करते वक़्त billing address में तो card के owner का address डाल देते है लेकिन बात shipping address की हो तब carders अपने landmark के किसी curiour की दूकान में delivered करवा देते है और वहासे अपने product को collect करते है. जिससे उनकी location तक कोई पहुँच ही ना पाएं.

Carders हर एक चाल को बहुत ही संभाल कर चलते है.

क्या Carding Products को खरीदना चाहिए ?

दोस्तों मेने पहले ही आपको बताया है और अभीभी बता रहा हूँ की कोई भी आपको कहें की carding products खरीद लों, तो ज़िन्दगी में कभी उसकी बातों में आके खरीद मत्त लेना. क्योंकि वह आपके ज़िन्दगी की सबसे बड़ी भूल होगी आपके लिए.

Carding Products को खरीदना भी कानूनन जुर्म है और अगर आप फिर भी खरीदेंगे तो यह जान ले की कभी ना कभी आप फस जाएंगे ही.

Carding याने एक चोरी है. Carders आपको IphoneX जैसे महंगे phones जिनकी मार्केट में कीमत  Rs.95,000 तक की है, यह phone आपको carders Rs.15000/- में offer करेंगे. 

आपको हर बात वोह बताता है की हम safety के साथ carding करते है जिसमे आप बिलकुल नहीं फसेंगे. लेकिन final बात तोह यह है की जब वोह आपके लिए कोई product को order करते है तब shipping address में आपके address को डाल देते है. तो अगर आगे चलके कोई भी hint cyber crime को मिलती है तो वोह सबसे पहले आपका घर होगा. तब आपको जेल में डाल दिया जाएगा और पता नहीं कितने सालों के लिए.

 Carding Scams 

तो मेरे भाइयों अभी में आपको बताना चाहूँगा की carding में आज बहुत fraud होना शुरू हो गए है. कोई भी Instagram, Facebook पर carding के नाम से pages बना रहे है आपने देखा ही होगा.

Carding Fraud Pages


यह pages पर किसी भी तरह का photoshop कर payment proof बनाकर यह लोग डाल देते है ताकि customers को इस page पर भरोसा हो सके.

आपको ऐसे ऐसे offers का लालच देतें है की आप इसमें फस ही जाते है और जब आपसे कहा जाता है की payment पूरा करना होगा तोह आप पुरे पैसे उनको एकसाथ pay कर देतें है और इसीके ठीक बाद वह आपको block कर देतें है. 

तो यह है Carding Scam

कुछ कुछ लोग तोह आपको फेक adhaar card की फोटो भी भेज देतें है. लेकिन एक बार आपसे पैसे निकलवाओ वोह आपको block कर देतें है.

अब आपके पास कोई option नहीं बचता उस पैसे को भूल जाने के सिवाय. ना तो आप किसीसे यह बात कर सकते है और ना ही आप पुलिस में कंप्लेंट लिखवा सकते हो, क्योंकि अगर आप ऐसा करते है तो सबसे पहले आपको अन्दर जाना होगा. क्योंकि आप carding products को खरीद रहे थे जो की जुर्म है.

इसीलिए कभीभी social media पर किसीपे भी भरोसा मत्त करना आपको बोहोत बड़ा दाम भुगतना पड़ सकता है.या तोह पैसे जाएंगे नहीं तो जेल जाएंगे.

क्या में Carding का शिकार हुआ था ?

जी हाँ, में भी carding का शिकार हुआ था और में मेरा personal experience आपको बता रहा हूँ ताके आपको पता चलें की carding आपको कितना नुक्सान पोहोंचा सकती है.

2 साल पहले, मेरे पापा को उनकी बैंक ने Credit card दिया था जिसकी लिमिट बैंक ने 2,50,000/- थी. 

एक दिन अचानक से पापा के phone पर एक मेसेज आया जो की बैंक की तरफ से था और उसके लिखा था की आपके credit card का बिल Rs. 2,10,000/- है जो आपको अगले महीने भरना है. 

हम मेसे किसीको कुछ समज नहीं आ रहा था की यह कैसे हो सकता है जब की हमने अभी तक credit card को इस्तेमाल ही नही किया तोह इतना bill कैसे आ सकता है.

लगबघ 2 महीने मेरे पापा bank के चक्कर खाते रहे लेकिन इतना ही पता चल पाया की card पे किसीने shopping की है और location मिल पाना ना-मूमकिन है. अंत में हमे सारे पैसे भरने पड़े.

तो देखा carding की वजह से हमे कितना धोका है.

Carding Fraud से कैसे बचें    

 Carding कभीभी सिर्फ credit card से नहीं होती. अगर आपके debit card की भी अगर information carder को मिल जाती है तोह वह आपके debit card से भी shopping कर सकता है.

तो अभी हम देखते है की आपको carding के fraud से बचने के लिए कौन कौन सी सावधानियां बरतनी होंगी.

1. Card की Details अनजान लोगोंको ना देना :-

हमेशा इस बात का ख़ास ख्याल आप रखें की कोई भी अनजान आदमी आपको phone पर आपसे आपकी credit card या debit card की details मांगे तो उसको वह ना देकर तुरंत उस phone को पुलिस को दे देना चाहिए, क्योंकि बैंक का कर्मचारी तक आपको आपके card की details नहीं मांग सकता. तो इस बात का जरूर ध्यान रखें.

2. Online Payment करते समय ध्यान दें :-

दोस्तों हमेशा जब भी आप कोई भी online site से shopping करते है तब हमेशा उस site के URL में HTTPS यह extension है या नहीं जरूर देखें, अगर नहीं है तोह समज जाओ की आपके card की details इस website पर गुप्त नहीं रखीं जाएगी, तोह ऐसे website पर आप कभी ऑनलाइन payment ना करें.

3. Pin की जगह OTP का इस्तेमाल करें :- 

अगर आप कोई भी तरह का online payment अपने card से कर रहे है, तो हमेश OTP का इस्तेमाल करें Pin Number कभीभी use ना करें इससे आपके card को प्रोटेक्शन मिलेगा.

4. Payment करते समय ध्यान देना :-

यदि आप किसी दूकान में card payment कर रहे है, तो पहले आप ध्यान जरूर रखें की आपके card की details पर कोई ध्यान तो नहीं दे रहा.

तो यह सावधानियां आपको हमेशा रखनी चाहिए. वैसे तोह otp आने के बाद carding की cases काम हो गयी है लेकिन carders कुछ ना कुछ कर credit card को hack कर सकते है.

हमेशा याद रहे, हमें carding करनी भी नहीं चाहिए और carding products को खरीदना भी नहीं चाहियें.

यदि आपको आजका हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तोह Facebook, Whatsapp और बाकी Social Media Platforms पर दोस्तों के साथ Share करें. 


2 Comments

Post a Comment

Previous Post Next Post